बुधवार, 19 दिसंबर 2018    English Website स्वागत हे  
इंजीनियरी प्रशिक्षण
यह स्कूल A320 परिवार और A330 विमान पर विमान विशिष्ट पाठ्यक्रम और प्रशिक्षण कार्यक्रम के आयोजन के लिए डीजीसीए से अनुमोदित है ।

इसमें सभी आधुनिक प्रशिक्षण सुविधाऍं जैसे कंप्युटराइज्ड एलसीडी प्रोजेक्शन सिस्टम और मल्टी मीडिया कोर्सवेयर उपलब्ध हैं । ये कोर्सवेयर- कंप्यूएटर पर उनके पैरिफिरल्स और सॉफटवेयर की सहायता से बनाए जाते है । कक्षा में प्रतिभागियों को देने से पूर्व इनकी जॉंच कर ली जाती है । प्रशिक्षण सामग्री, पाठ्यक्रम प्रतिभागियों को प्रशिक्षण मैनुअल के रूप में दी जाती है । इस प्रशिक्षण स्कूल में एक सुव्यवस्थित पुस्तकालय है जिसमें अच्छी संख्या में विमान अनुरक्षण और सामान्य इंजीनियरी विषयों पर पुस्तकें और सीडी रोम्स उपलब्ध है । इस प्रशिक्षण स्कूल में प्रतिभागियों को व्यावहारिक ज्ञान देने के लिए एक उड़ानगत मनोरंजन प्रणाली ट्रेनर भी उपलब्ध है । यह भारत और अधिक प्रायोगिक प्रशिक्षण के लिए एअर इंडिया लिमिटेड-हैंगर्स, विभिन्न शॉप एवं सीटीई में सिम्युलेटर का उपयोग किया जाता है । कक्षाओं में परिवर्तन कर सीखने का माहौल पैदा किया गया है ।

यह भारत और विदेश के एयरलाइंस / अनुरक्षण संगठनों के कर्मचारियों के लिए विभिन्न प्रकार के तकनीकी पाठ्यक्रमों का आयोजन करने के साथ-साथ विमानन उद्योग में नियुक्त होने वाले एब-इनीशियो प्रतिभागियों के लिए पाठ्यक्रम आयोजित करता है । ये पाठ्यक्रम ए320 परिवार के हमारे अपने विमान बेड़े पर कक्षा प्रशिक्षण और प्रायोगिकी प्रशिक्षण के साथ-साथ अन्य के लिए तैयार किए गए हैं । विमानन पाठ्यक्रम के अलावा, विमानन उद्योग के लिए आवश्यक 'मानव कारक' आदि गैर विमान पाठ्यक्रम भी ट्रेनिंग स्कूल द्वारा आयोजित किये जाते हैं ।

स्कूल के विमान पाठ्यक्रम में भाग लेने के बाद, इंजीनियरी कर्मी डीजीसीए आवश्यकता को पूरा पर विमान के रखरखाव के लिए लाइसेंस / अनुमोदन को प्राप्त करने / नवीकरण के लिए पात्र बन जाते हैं । इसके अलावा एब-इनीशियो के प्रतिभागी विमानन उद्योग में भविष्य बनाने के लिए बीएएमइएल उत्तीर्ण होने के लिए मानक योग्यता प्राप्त कर सकते हैं । अनुरोध प्राप्त होने पर सीटीई, हैदराबाद के स्कूल के ए320 परिवार विमान के अलावा ए330, ए300, सीआरजे-700, बो737-200, एटीआर42 आदि अन्य विमानों पर भी प्रशिक्षण, मुंबई, दिल्ली और कोलकाता के एयर इंडिया के अन्य बेसों के इंजीनियरिंग ट्रेनिंग स्कूलों के सहयोग से, आयोजित किया जा सकता है ।

सामान्य रूप से स्कूल में आयोजित किये जाने वाले प्रामाणिक रूप से बनाये गये कुछ प्रशिक्षण कार्यक्रम नीचे प्रदर्शित परिशिष्ट 'ए' में दिये गये हैं। परन्तु अन्य ग्राहक अपेक्षित पाठ्यक्रम भी आवश्यकता के अनुसार तैयार किये जा सकते हैं ।

ईटीएस, हैदराबाद द्वारा प्रदान किए जाने वाले पाठ्यक्रमों के विभिन्न प्रकार:
इंजीनियरी प्रशिक्षण स्कूल, सीटीई, हैदराबाद द्वारा प्रदत्त प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों की सूची अवधि
क्र.सं पाठ्क्रमों के नाम क्लास रूम प्रैक्टिकल
अ. विमान अनुरक्षण इंजीनियरों के लिए पाठ्यक्रम: सप्ताह
1 डीजीसीए अनु. ए 320 / ए 319 / ए 321एयरफ्रेम प्रणाली पाठ्यक्रम 2
2 डीजीसीए अनु. ए 320 / ए 319 / ए 321एवियॉनिक्‍स प्रणाली पाठ्य 6 2
3 डीजीसीए अनुमोदित वी2500 इंजन प्रणाली पाठ्यक्रम 2
4 डीजीसीए अनुमोदित सीएफएम56-5बी इंजन प्रणाली पाठ्यक्रम 2 1
5 डीजीसीए अनु. ए319 / ए321 और ए320 में एयरफ्रेम अंतर पाठ्य 1 W (7 working days) --
6 डीजीसीए अनु. ए319 / ए321 और ए320 के एवियानिक्‍स अंतर पाठ्य 1 W (7 working days) --
7 डीजीसीए अनुमोदित सीआरजे-700 एयरफ्रेम और इंजन पाठ्यक्रम 4 --
8 डीजीसीए अनुमोदित सीआरजे-700 एवियानिक्स पाठ्यक्रम 3 --
9 डीजीसीए अनुमोदित ए330 एयरफ्रेम पाठ्यक्रम 5 1
10 डीजीसीए अनुमोदित पी एंड डब्ल्यू 4168 इंजन पाठ्यक्रम 2 1
11 डीजीसीए अनु. ए330 एवियानिक्स ( इंजी प्रशि. प.क्षे. की मदद से ) 4 1
12 इंजीनियर्स के लिए सामान्‍य पुनश्चर्या पाठ्यक्रम 1 Day --
13 वी2500 / सीएफएम56 इंजन के साथ ए320 / ए319 / ए321विमान पर पुनश्चर्या पाठ्य. 5 Days --
ब. विमान रखरखाव तकनीशियनों के लिए पाठ्यक्रम: सप्ताह
1 ए320 /ए319 / ए321 एयरफ्रेम प्रणालियॉं 3 2
2 ए320 /ए319 / ए321 एवियॉनिक्‍स प्रणालियॉं 3 2
3 वी2500 इंजन प्रणालियॉं 1 1
4 सीएफएम56-5बी इंजन प्रणालियॉं 1 1
स. विमान रखरखाव कर्मियों के लिए अन्य पाठ्यक्रम: Day (s)
1 विमानन उद्योग में मानव कारक पाठ्यक्रम 2 --
2 उड़ानगत मनोरंजन प्रणाली
3 ईंधन टैंक सुरक्षा पाठ्यक्रम 1 --
द. व्यक्तियों / एयरलाइंस / रखरखाव संगठनों में नए कर्मचारियों के लिए बेसिक विमान पाठ्यक्रम ( एब-इनीशियो प्रशिक्षण):
1 बेसिक एविएशन पाठ्यक्रम 3 --
2 बेसिक एयरफ्रेम पाठ्यक्रम --
3 बेसिक गैस टरबाइन इंजन एवं प्रणाली पाठ्यक्रम --
4 बेसिक एवियानिक्स एवं प्रणाली पाठ्यक्रम 3 --
5 बेसिक इलेक्ट्रिकल पाठ्यक्रम 7 --
6 बेसिक इन्‍स्‍ट्रुमेंट्स पाठ्यक्रम 7 --
7 बेसिक रेडियो पाठ्यक्रम 7 --
नोट: आवश्यकता के अनुसार विचा -विमर्श के साथ और विशेष मामले के रूप में अनुमोदन के साथ पाठ्यक्रम की
वी2500 / सीएफएम56 इंजन के साथ ए320 परिवार (ए320, ए319 और ए321) विमान, पी एंड डब्यू500 4168 इंजन के साथ ए330 विमान, जीई सीएफ 34-8सी5 इंजन के साथ सीआरजे-700 पर, विमान और / या उसके कांपोनेंट्स के प्रमाणीकरण के लिए डीजीसीए आवश्यकता के अनुसार एएमइ लाइसेंस / अनुमोदन प्राप्त करने के लिए प्रशिक्षण पाठ्यक्रम आयोजित किये जाते हैं । प्राप्त किये जाने वाले लाइसेंस / अनुमोदन; लाइन / प्रमुख रखरखाव के लिए और साथ ही ओवरहॉल शोप्स के लिए मान्य हैं । सभी पाठ्यक्रमों में, कक्षा प्रशिक्षण के प्रत्येक चरण में डीजीसीए द्वारा परीक्षाऍं आयोजित की जाती हैं जिनमें डीजीसीए मानदंडों के अनुसार लाइसेंस / अनुमोदन प्राप्त करने के लिए मौखिक परीक्षा में भाग ले कर उत्तीषर्ण अंक प्राप्त करना आवश्यक है ।


डीजीसीए(यदि लाइसेंस / अनुमोदन प्राप्त करना आवश्यक है, तो) द्वारा आयोजित बीएएमइसी (बामेक) परीक्षा (पेपर-I, पेपर-I I और पेपर-I I I ) के सभी तीन विषयों में उत्तीोर्ण होना । एयरफ्रेम के लिए एचए पेपर-III पर, इंजन के लिए जेई पर और वैमानिकी लाइसेंस / अनुमोदन के लिए वैमा‍निकी (इलेक्ट्रिकल + इन्स्ट्रुमेंट + रेडियो) पर होना चाहिए।
ए319 / ए321 विमान अंतर पाठ्यक्रम के लिए, इसी तरह के ट्रेड में ए320 विमान पर लाइसेंस / अनुमोदन होना अनिवार्य है । वरना, विमान पर एक पूर्ण पाठ्यक्रम में भाग लेना होगा ।

पढ़ाये जाने वाले विमान पाठ्यक्रम:
5½ सप्ताह (कक्षा कक्ष प्रशिक्षण) + 2 सप्ताह (प्रैक्टिकल ट्रेनिंग)।
डीजीसीए द्वारा अनुमोदित पाठ्यक्रम के अनुसार ए 320 विमान (विमान के ढांचे सहित) की सभी एयरफ्रेम सिस्टम। प्रमुख विषय इस प्रकार हैं: संरचना, विद्युत शक्ति, हाइड्रोलिक, लैंडिंग गियर, फ्लाइट कंट्रोल, न्यूमेटिक्स, एयर कंडीशनिंग, प्रेशरराइजेशन, ईंधन सिस्टम, ऑटो फ्लाइट कंट्रोल, नेविगेशन, सीएफडीएस, ईआईएस, एडीआईआरएस, आइस एंड रेन प्रोटेक्शन इत्यादि। सभी विषयों को 4 चरणों में शामिल किया जा रहा है।
2½ सप्ताह (कक्षा प्रशिक्षण) + 2 सप्ताह (प्रैक्टिकल ट्रेनिंग)।
डीजीसीए द्वारा अनुमोदित पाठ्यक्रम के अनुसार वी 2500 इंजन विमान की सभी प्रणालियों। प्रमुख विषय इस प्रकार हैं: मैकेनिकल व्यवस्था, विद्युत शक्ति, ईंधन प्रणाली, एफएडीईसी, थ्रस्ट रिवर्सर, तेल प्रणाली, वायु प्रणाली, एचएमएस, प्रारंभ / इग्निशन, एपीयू (जीटीसीपी 36-300), अग्नि सुरक्षा, आदि सभी 2 चरणों से ढके हैं ।
2 सप्ताह (कक्षा प्रशिक्षण) + 1 सप्ताह (प्रैक्टिकल ट्रेनिंग)।
डीजीसीए द्वारा अनुमोदित पाठ्यक्रम के अनुसार सीएफएम 56 इंजन की सभी प्रणालियों। प्रमुख विषय इस प्रकार हैं: मैकेनिकल व्यवस्था, विद्युत शक्ति, ईंधन प्रणाली, एफएडीईसी, थ्रस्ट रिवर्सर, तेल प्रणाली, वायु प्रणाली, अग्नि सुरक्षा, एपीयू (हनी वेल 131-9 ए) आदि सभी 2 चरणों से ढके हैं।
6 सप्ताह (कक्षा प्रशिक्षण) + 2 सप्ताह (प्रैक्टिकल ट्रेनिंग)।
वी 2500 / सीएफएम 56 इंजन और एपीयू जीटीसीपी 36-300 / हनीवेल 131-9 ए के साथ ए 320 विमान के सभी लागू एवियनिक्स सिस्टम हैं। पाठ्यक्रम डीजीसीए की मंजूरी के अनुसार किया जाता है। प्रमुख विषय हैं - विद्युत पावर, हाइड्रोलिक, लैंडिंग गियर, फ्लाइट कंट्रोल, न्यूमेटिक्स, एयर कंडीशनिंग, प्रेशरराइजेशन, ईंधन सिस्टम, ऑटो फ्लाइट कंट्रोल, नेविगेशन, ईआईएस, कम्युनिकेशंस, टीसीएएस, आइस एंड रेन प्रोटेक्शन, इंस्ट्रूमेंट्स, फायर प्रोटेक्शन, ऑक्सीजन इत्यादि। सभी 4 चरणों।
7 कार्य दिवस (केवल कक्षा प्रशिक्षण)
ए 319 / ए 321 विमानों की सभी एयरफ्रेम सिस्टम जिनमें ए 320 विमानों से कोई फर्क पड़ता है। कवर किए गए विषय डीजीसीए द्वारा अनुमोदित पाठ्यक्रम के अनुसार हैं। पाठ्यक्रम के लिए केवल एक चरण है।
7 कार्य दिवस (केवल कक्षा प्रशिक्षण)
ए 319 / ए 321 विमानों की सभी एवियनिक्स सिस्टम जिनमें ए 320 विमान से कोई अंतर है और वी 2500 इंजन और सीएफएम 56 इंजन के बीच अंतर है। एपीयू (हनीवेल 131-9 ए) को ए 320 विमान में इस्तेमाल एपीयू जीटीसीपी 36-300 के स्थान पर ए319 / ए 321 विमान में इस्तेमाल होने पर भी कवर किया गया है। कवर किए गए विषय डीजीसीए द्वारा अनुमोदित पाठ्यक्रम के अनुसार हैं। पाठ्यक्रम के लिए केवल एक चरण है।
7 कार्य दिवस (केवल कक्षा प्रशिक्षण)
ए 319 / ए 321 विमानों की सभी एवियनिक्स सिस्टम जिनमें ए 320 विमान से कोई अंतर है और वी 2500 इंजन और सीएफएम 56 इंजन के बीच अंतर है। एपीयू (हनीवेल 131-9 ए) को ए 320 विमान में इस्तेमाल एपीयू जीटीसीपी 36-300 के स्थान पर ए319 / ए 321 विमान में इस्तेमाल होने पर भी कवर किया गया है। कवर किए गए विषय डीजीसीए द्वारा अनुमोदित पाठ्यक्रम के अनुसार हैं। पाठ्यक्रम के लिए केवल एक चरण है।
5 सप्ताह (कक्षा प्रशिक्षण) + 2 सप्ताह (प्रैक्टिकल ट्रेनिंग)।
डीजीसीए द्वारा अनुमोदित पाठ्यक्रम के अनुसार ए 330 विमान (विमान के ढांचे सहित) की सभी एयरफ्रेम सिस्टम। प्रमुख विषय इस प्रकार हैं: संरचना, विद्युत शक्ति, हाइड्रोलिक, लैंडिंग गियर, फ्लाइट कंट्रोल, न्यूमेटिक्स, एयर कंडीशनिंग, प्रेशरराइजेशन, ईंधन सिस्टम, ऑटो फ्लाइट कंट्रोल, नेविगेशन, सीएफडीएस, ईआईएस, एडीआईआरएस, आइस एंड रेन प्रोटेक्शन इत्यादि। सभी विषयों को 4 चरणों में शामिल किया जा रहा है।
2 सप्ताह (कक्षा प्रशिक्षण) + 1 सप्ताह (प्रैक्टिकल ट्रेनिंग)।
डीजीसीए द्वारा अनुमोदित पाठ्यक्रम के अनुसार पी एंड डब्ल्यू इंजन की सभी प्रणालियों। प्रमुख विषय इस प्रकार हैं: मैकेनिकल व्यवस्था, विद्युत शक्ति, ईंधन प्रणाली, एफएडीईसी, थ्रस्ट रिवर्सर, तेल प्रणाली, वायु प्रणाली, अग्नि सुरक्षा, एपीयू इत्यादि।
4 सप्ताह (कक्षा प्रशिक्षण) + 1 सप्ताह (प्रैक्टिकल ट्रेनिंग)।
डीजीसीए द्वारा अनुमोदित पाठ्यक्रम के अनुसार ए 330 विमान की एवियनिक्स प्रणाली। प्रमुख विषय इस प्रकार हैं: विद्युत शक्ति, हाइड्रोलिक, लैंडिंग गियर, फ्लाइट कंट्रोल, न्यूमेटिक्स, एयर कंडीशनिंग, प्रेशरराइजेशन, ईंधन सिस्टम, ऑटो फ्लाइट कंट्रोल, नेविगेशन, सीएफडीएस, ईआईएस, एडीआईआरएस, आइस एंड रेन प्रोटेक्शन इत्यादि। सभी विषयों को 3 चरणों में शामिल किया जा रहा है।
4 सप्ताह (कक्षा प्रशिक्षण) + 1 सप्ताह (प्रैक्टिकल ट्रेनिंग)।
डीजीसीए द्वारा अनुमोदित पाठ्यक्रम के अनुसार ए 330 विमान (विमान के ढांचे सहित) की सभी एयरफ्रेम सिस्टम। प्रमुख विषय इस प्रकार हैं: संरचना, विद्युत शक्ति, हाइड्रोलिक, लैंडिंग गियर, फ्लाइट कंट्रोल, न्यूमेटिक्स, एयर कंडीशनिंग, प्रेशरराइजेशन, ईंधन सिस्टम, ऑटो फ्लाइट कंट्रोल, नेविगेशन, सीएफडीएस, ईआईएस, एडीआईआरएस, आइस एंड रेन प्रोटेक्शन इत्यादि। जीई सीएफ 34-8 सी 5 इंजन के लिए, सभी डीजीसीए द्वारा अनुमोदित पाठ्यक्रम के अनुसार इंजन सिस्टम। प्रमुख विषय इस प्रकार हैं: मैकेनिकल व्यवस्था, विद्युत शक्ति, ईंधन प्रणाली, एफएडीईसी, थ्रस्ट रिवर्सर, तेल प्रणाली, वायु प्रणाली, अग्नि सुरक्षा, एपीयू इत्यादि।
3 सप्ताह (कक्षा प्रशिक्षण) + 1 सप्ताह (प्रैक्टिकल ट्रेनिंग)।
इंजन और एपीयू के साथ विमान के सभी एवियनिक्स सिस्टम। पाठ्यक्रम डीजीसीए की मंजूरी के अनुसार किया जाता है। प्रमुख विषय हैं। हाइड्रोलिक, लैंडिंग गियर, फ्लाइट कंट्रोल, न्यूमेटिक्स, एयर कंडीशनिंग, प्रेशरराइजेशन, ईंधन सिस्टम, ऑटो फ्लाइट कंट्रोल, नेविगेशन, ईआईएस, कम्युनिकेशंस, टीसीएएस, आईस एंड रेन प्रोटेक्शन, इंस्ट्रूमेंट्स, फायर प्रोटेक्शन, ऑक्सीजन इत्यादि।
नागर विमानन आवश्यकताऍं सेक्शन 2, सीरीज 'L' पार्ट VII, सीरीज 'L' पार्ट X और सीरीज 'एल' भाग XIV के अनुसार किसी भी विमान के एएमइ लाइसेंस, स्वीकृतियां और सक्षमता प्रमाण पत्र (वेल्डर को छोड़कर) के धारकों के लिए समय-समय पर पुनश्च र्या पाठ्यक्रम की आवश्यकता । पाठ्यक्रम कर्मियों को विमान, इंजन और उसके कांपोनेंट्स की उड़ान योग्यता को प्रमाणित करने में मदद करता है, विमानन से संबंधित विभिन्न क्षेत्रों की वर्तमान और अद्यतन स्थिति का ज्ञान देता है । उपर्युक्त कर्मियों को हर चौबीस महीने में कम से कम एक बार पुनश्चर्या पाठ्यक्रम करना आवश्यक है । यह दिनांक 4 अप्रैल 2001 के 2000 के एयरवर्थीनेस एडवाइजरी सर्क्यु्लर सं, 8 के अनुसार है ।
इस पाठ्यक्रम के लिए कोई परीक्षा आयोजित नहीं की जाती ।
एएमइ लाइसेंस / अनुमोदन / सक्षमता प्रमाणपत्र धारक कर्मी
2 पूर्ण कार्य दिवस.
विमान नियम, सीएआर और एएसी के रिवीजन; क्यूसी मैनुअल में संशोधन; वर्तमान प्रौद्योगिकी; मानव कारक; अच्छे रखरखाव पध्दंतियॉं; विमानन उद्योग में नवीनतम विकास; विमानन उद्योग में सुरक्षा; हाल ही में जारी सामान्य परिपत्र आदि ।
डीजीसीए की अनिवार्य आवश्यकता के अनुसार लाइसेंस / अनुमोदन के नवीकरण के लिए ए320 परिवार विमान पर वी2500 / सीएफएम56 इंजन (सभी ट्रेड) के साथ पुनश्चर्या पाठ्यक्रम। 2000 के एएसी 8 के अनुसार हर 2 साल में एक बार आवश्यक है ।
एयरफ्रेम / इंजन / वैमानिकी / उसके कंपोनेंट पर लाइसेंस / अनुमोदन होना.
3 दिन (ए320 परिवार विमान एयरफ्रेम लाइसेंस / अनुमोदन के लिए)
1 दिन (वी2500 इंजन लाइसेंस / अनुमोदन के लिए)
1 दिन (सीएफएम56 इंजन लाइसेंस / अनुमोदन के लिए)
नोट: ए320 परिवार विमान वैमानिकी लाइसेंस / अनुमोदन धारकों को, उपरोक्तानुसार पहले 3 दिन (एयरफ्रेम भाग) और किसी भी एक या दोनों इंजन पर 1 दिन पुनश्चर्या पाठ्यक्रम, जैसा भी आवश्ययक हो, में भाग लेने की आवश्यकता है ।
संक्षेप में विमान / इंजन की सभी प्रमुख प्रणालियाँ और 2000 के एएसी No.8 में यथा उल्लेखित डीजीसीए की गाइड लाइन के अनुसार विमान प्रणालियों के किसी भी कांपोनेंट / असेंबली / उप-प्रणाली में परिवर्तन / संशोधन / विकास है ।
इसके अलावा, हमारे बेड़े में विमानों में बार-बार आने वाले स्नैग्स और ट्रबल शूटिंग से निपटने; डीजीसीए द्वारा जारी / रिवाईज्ड- / रद्द अनिवार्य संशोधन; महत्वपूर्ण सर्विस बुलेटिन / विनिर्माताओं के दस्तावेजों आदि में परिवर्तन; अनुमोदित निरीक्षण कार्यक्रम /प्रक्रिया शीट में परिवर्तन; आरवीएसएम / ईटाप्सत / कैट II एवं III प्रचालन / एमएनपीएस / इजीपीडब्ल्यूस आदि जैसे महत्वपूर्ण विषय, एमएमइएल / एमईएल के लिए संशोधन;
उपरोक्त ए320 परिवार (ए320, ए319 और ए321) विमान पर विमान और / या उसके कांपोनेंट्स पर रखरखाव, ओवेरहौल, निरीक्षण, परीक्षण आदि के क्षेत्र में काम करने के लिए तकनीशियनों को उपरोक्त विमान प्रशिक्षण पाठ्यक्रम प्रदान किये जाते हैं। ये पाठ्यक्रम लाइन और प्रमुख रखरखाव तकनीशियन दोनों को उनके दैनंदिन गतिविधियों और भविष्य के कैरियर में प्रगति के लिए मदद करते हैं । कक्षा प्रशिक्षण और प्रायोगिक प्रशिक्षण के रूप में पाठ्यक्रम दिया जाता है । कक्षा प्रशिक्षण के लिए और साथ ही प्रायोगिक प्रशिक्षण दोनों के लिए परीक्षा आयोजित की जाती है। पाठ्यक्रमों के लिए दोनों के कुल 60% अंक पास अंक होते हैं ।
मूल कंपनी द्वारा अपेक्षित न्यूनतम योग्यता और अनुभव के साथ विमान / इंजन / वैमानिकी प्रणाली पर बुनियादी ज्ञान होना । इसमें तकनीशियनों को विमान का बुनियादी प्रशिक्षण प्राप्त होना बेहतर होगा ।
ए319 / ए321 विमान अंतर पाठ्यक्रमों के लिए, व्यक्ति को इसी तरह के ट्रेड में ए320 विमान पर प्रशिक्षण और काम का अनुभव होना. वरना उसे, विमान पर एक पूर्ण पाठ्यक्रम में भाग लेना होगा ।
प्रदान किये गये विमान पाठ्यक्रम: वे ही पाठ्यक्रम होंगे जिनकी पेशकश विमान रखरखाव इंजीनियरों के लिए की गयी है, लेकिन कम अवधि के साथ ।
विमानन उद्योग में विमान अनुरक्षण गतिविधियों में शामिल कर्मियों को कुछ अन्य प्रकार के पाठ्यक्रम प्रदान किये जाते हैं । ये पाठ्यक्रम कम अवधि के हैं लेकिन एक एयरलाइंस / अनुरक्षण संगठन के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं । विमानन उद्योग या संबंधित क्षेत्रों में काम करने वाले कोई भी व्यक्ति इन पाठ्यक्रमों के लिए पात्र है । ये पाठ्यक्रम इस प्रकार हैं:
आज की तारीख में विमानन उद्योग में इस पाठ्यक्रम का कवरेज बहुत महत्वपूर्ण है । यह विमानन उद्योग के सभी कर्मियों के लिए एक अनिवार्य आवश्यकता बन गया है ।
एएमइ/कार्यपालकों के लिए: 2 दिन (परीक्षा सहित)
तकनीशियनों के लिए: 1 दिन (परीक्षा सहित)
एएमइ / कार्यपालकों के लिए : 2 दिन (प्रायोगिकी और परीक्षा सहित)
तकनीशियनों के लिए : 1 दिन (प्रायोगिकी और परीक्षा सहित)
एएमइ / कार्यपालकों के लिए : 1 दिन (8 घंटे)
तकनीशियनों के लिए : ½ दिन (4 घंटे)
एब-इनीशियो प्रशिक्षण पाठ्यक्रम उन कर्मियों के लिए आयोजित किया जाता है जो नए -नए तकनीकी कॉलेजों के बाहर आते हैं और एक एयरलाइंस / अनुरक्षण संगठन के विमान रखरखाव धारा में शामिल होने की इच्छा रखते हैं । ये पाठ्यक्रम विमान, उसके उड़ान सिद्धांत, विमान प्रणालियॉं, इंजन प्रणाली और विमान / इंजन / घटकों के रखरखाव संबंधी पध्दतियों पर बुनियादी तकनीकी ज्ञान प्रदान करने के लिए बनाये गये हैं । पाठ्यक्रम से विमान पर उन्हें अपने ज्ञान में सुधार लाने और विमान के रखरखाव के क्षेत्र में काम करने के लिए लाइसेंस / अनुमोदन प्राप्त करने के लिए डीजीसीए द्वारा आयोजित बीएएमइसी परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करने में मदद मिलती है ।
स्नातक या उसके समकक्ष या, एयरोस्पेस, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स और इन्ट्रुमेंट्स की धारा में से किसी एक में इंजीनियरिंग में डिप्लोमा । इसके अलावा, इनसे इतर योग्यता रखने वाले वे कर्मी जिन्हें विमानन पर पर्याप्त तकनीकी ज्ञान और अनुभव हो उन्हें उपरोक्त पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए विचार किया जा सकता । विमानन उद्योग में तकनीशियन के रूप में काम करने वाले व्यक्ति के मामले में, केवल एक ट्रेड अपरेंटिस सर्टिफिकेट कोर्स एक प्रशिक्षु तकनीशियनों के पाठ्यक्रम में भाग लेने के लिए एक पृष्ठभूमि बन सकता है । सभी पाठ्यक्रम मात्र कक्षा प्रशिक्षण ही हैं ।

विभिन्न प्रकार के एब इनिशियों और प्रशिक्षण कार्यक्रम:
3 सप्ताह (कक्षा प्रशिक्षण)
उड़ान सिद्धांत, उड़ान मेकानिज़्म, विमान स्थिरता और नियंत्रण, द्रव मेकानिज़्म, उच्च / हाई लिफ्ट / ड्रैग उपकरण, विमान संरचना, बेसिक–इलेक्ट्रिकल्स, इन्स्ट्रुमेंट, रेडियो आदि। इसमें द्रवचालिकी / गैसयांत्रिकी पावर जनरेशन प्रणाली-उनके कॉम्पोनेंट सहित, बेसिक वातानुकूलन सिद्धांत, दबावीकरण, उड़ान नियंत्रण, ईंधन प्रणाली आदि की मूलभूत जानकारी सम्मिलित है । इसमें मेकानिकल/ इलेक्ट्रिकल कंपोनेंट और उनके कार्य सम्मिलित हैं ।
2½ सप्ताह (कक्षा प्रशिक्षण)
विमानसंरचना, द्रवचालिकी प्रणाली, अवतरण गियर, गैसयांत्रिकी प्रणाली, वातानुकूलन, दबावीकरण, उड़ान नियंत्रण, ईंधन प्रणाली, हिम व वर्षा से बचाव, इलेक्ट्रिकल पावर प्रणाली, ऑक्सिजन प्रणाली आदि।
1½ सप्ताह (कक्षा प्रशिक्षण)
थर्मोडाइनोमिक्स, थ्रस्ट जनरेशन-मूल सिद्धांत, एअर इनटेक जैसे बेसिक इंजन कन्स्ट्रकशन फीचर, संपीड़न, दहन चैंबर, टर्बाइन, नोजल्स आदि. इसमें सभी प्रमुख इंजन प्रणालियाँ जैसे ईंधन प्रणाली, प्रारंभ प्रणाली, इग्निशन प्रणाली, थ्रस्ट रिवर्सर प्रणाली, तेल प्रणाली, वायु प्रणाली आदि भी सम्मिलित हैं ।
3 सप्ताह (कक्षा प्रशिक्षण)
यान निर्देशन प्रणाली, स्वत: उड़ान नियंत्रण प्रणाली, पिटोट/ स्टैटिक प्रणाली, हिम व वर्षा से बचाव, इलेक्ट्रिकल पावर प्रणाली, ऑक्सिजन प्रणाली, आग से बचाव, दबावीकरण, विमान इन्स्ट्रुमेंट, जीपीडब्ल्यूएस, आईएलएस, टीकास आदि.

बेसिक एविएशन कोर्स भी अलग से अधिक विस्ताIर के साथ आयोजित किया जाता है । प्रत्येक के लिए 6 सप्ताह की अवधि होगी । डीजीसीए द्वारा आयोजित संबंधित ट्रेडों की परीक्षाओं बीएएमईसी (पेपर-III) में उत्ती र्ण होनेके लिए वे बहुत ज्यादा उपयोगी हैं । उपरोक्त, पाठ्यक्रम इस प्रकार हैं:
  1. बेसिक इलेक्ट्रिकल पाठ्यक्रम पाठ्यक्रम:
    पाठ्यक्रम: बेसिक इलेक्ट्रिकल फंडमेंटल्सट और विमान में उपयोग, जैसे एसी और डीसी फंडमेंटल्स्, ट्रांसफॉर्मर, मोटर्स, डायनमो आदि ।
  2. बेसिक उपकरण पाठ्यक्रम
    पाठ्यक्रम: विमान और इंजन प्रयोग किये जाने वाले उपकरणों के मूल सिद्धांत और प्रणालियाँ, जैसे,टीएटी, टीएएस, ऊंचाई, ईंधन प्रवाह दर, इंजन आरपीएम, दबाव, तापमान, इंजन कंपन, इजीटी, इपीआर आदि के बारे में संकेत और माप
  3. बेसिक रेडियो पाठ्यक्रम
    पाठ्यक्रम: नेविगेशनल प्रणाली, संचार प्रणाली, आइएलएस, मौसम रडार, जीएस, आदि के कार्य और सिद्धांत